यह कैसी लगन तुने हम को लगा दी है,
सौचा था प्यास बुझेगी तुने और बढ़ा दी है…!!
————————————————-
बस अब आखरी काम ये कर जाना है,
किसी की यादों में आकर मुस्कुराना है…!!
————————————————-
महोब्बत नही एक शख्स चाहिए,
तुझ सा नही सिर्फ तू चाहिए…!!
————————————————-
मत गुजारना मेरे जनाजे को उसकी गली से मेरे भाइयों,
साँसे दोबारा न चलने लगें , उस पगली के झूठे आँसू देखकर…!!
————————————————-
बहुत ज़ोर से हँसते हैं वो लोग,
जिनके अन्दर दूर तलक सन्नाटा फ़ैला होता है…!!http://newdomain.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *